Sugaecane.jpg

Table of Contents

गन्ना का परिचय
Introduction of Sugarcane in Hindi

प्राकृतिक मिठास से भरपूर और सर्वाधिक मीठे फलों में से एक फल है गन्ना। गन्ना जितना सख्त होता है उससे कहीं अधिक मीठा होता है। यह हर किसी को पसंद होता है। मुख्यतः गन्ने का रस का सेवन अधिक मात्रा में किया जाता है। गन्ना बच्चे से लेकर बूढ़े तक सबके मन को भाता है।

गन्ना स्वाद में इतना मीठा होता है कि इसके स्वाद के आगे गुड़ या चीनी भी फीके लगने लग जाए। गन्ना को अन्य नामों में ईख के नाम से भी जानते हैं।

दांतों की मजबूती के लिए गन्ना का सेवन बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। इसका सेवन भी मजबूत दांत वाले करते है। अक्सर देखा जाता है लोग ईख का सेवन केवल उसके स्वाद के लिए ही करते हैं, किंतु इसके प्रयोग से अनेकों रोग ठीक किए जा सकते हैं। गर्मियों के मौसम में यह बहुत आसानी से मिल जाती है और इसके रस का सेवन किया जाता है।

Sugarcane
Health benefits of sugarcane

गन्ना से जुड़े धार्मिक तथ्य –

ईख मां लक्ष्मी के रूप में भी पूजा जाता है। दीपावली पर लक्ष्मी पूजन के लिए गन्ने लाए जाते हैं। इससे पूजन करना शुभ फलदायी माना जाता है।

गन्ना क्या है?
What is Sugar Cane in Hindi?

गन्ना को अन्य नामों में ईख के नाम से भी जाना जाता है।
देश भर में कई प्रकार के गन्ना उगाये जाते हैं। गन्ने की अनेकों प्रजातियों देशभर में उगाई जाती हैं, जिनमें लाल, सफेद, काला, पौण्ड्रक, मनोगुप्ता आदि प्रमुख हैं।

गुड़, शक्कर, चीनी, खांड़ आदि खाद्य पदार्थ गन्ना के द्वारा बनाए जाते हैं। यह भारत की प्रमुख फसलों में से एक है। गन्ने का प्रयोग प्राचीन काल से किया जा रहा है। इसका पेड़ एक लाठी या डंडे जैसा प्रतीत होता है। इसके ऊपर के भाग में लंबी हरी पत्तियां होती है। स्वाद में मिठास से भरा होने के के कारण यह सबके मन को भाता है।
गन्ना को दुनिया भर में अन्य कई नामों से भी जाना जाता है। जो इस प्रकार हैं –

Sugarcane in Hindi–

पुण्डिया, पोण्डा, गन्ना, ईख, ऊँख, गांडा

गन्ना को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

Sugarcane, Noblecane, North Indian sugarcane

संस्कृत में गन्ने को क्या कहते हैं?
Sugarcan in Sanskrit –

पुण्ड्रक, अधिपत्र, असिपत्र, इक्षु, रसालु, विपुल रस, दीर्घच्छद, गुडमूल कहते हैं।

उर्दू में गन्ना (Sugarcan in Urdu) –

गन (Gan)

गुजराती में गन्ना–
Sugarcan in Gujarati –

नैशाकर (Neishakar), सेरडी (Serdi)

तमिल भाषा में गन्ना को क्या कहते हैं?
Sugarcane in Tamil–

पुण्ड्रय (Pundrya), कन्नाल (Kannal)

तेलुगु भाषा में गन्ने के नाम –
Sugarcane in Telugu–

अरुकनूपूलारूनुगा (Arukanupularunuga), इंजू (Inju)

बंगाली में गन्ना –
Sugarcane in Bengali–

आक (Aak), गन्ना (Ganna)

मराठी में गन्ना के नाम –
Sugarcane in Marathi–

आओस (Aaose), कब्बी (Kabbi)

गन्ने के रस में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व –
Nutritional in Sugarcane Juice in Hindi

इसका रस खनिजों से भरपूर होता है। इसमें पाए जाने वाले प्रमुख खनिजों में ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट्स , शुगर, मिनरल, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम आदि पाए जाते हैं।

गन्ने का चयन कैसे करें?
Selection of Sugarcane in Hindi

इसके रस का आनंद लेने के लिए इसका सही चुनाव करना भी अत्यंत आवश्यक है। पीला गन्ना जिनकी पत्तियां सूखी हों, ऐसे गन्ने का चयन करना चाहिए। साथ ही गन्ने पर उंगली से हल्की चोट मारकर देखें, अगर आवाज किसी धातु से टकराने जैसी आती है, तो इसका मतलब है कि गन्ना पूरी तरह से पक चुका है।

ईख का उपयोगी भाग
Useful Parts of Sugar cane

तना, जड़

गन्ने का सेवन कई तरह से किया जाता है –
Useful Method of Using Sugarcane in Hindi

गन्ना का जूस (sugarcane juice)
ईख से बनी मिश्री
गन्ना से बना गुड़
ईख की जड़ का काढ़ा

गन्ना का इस्तेमाल कैसे करें?
How to Use Sugar cane in Hindi?

बीमार होने की स्थिति में गन्ना का इस्तेमाल आयुर्वेदिक चिकित्सक के परामर्श लेने के बाद करें।

गन्ना कहां पाया या उगाया जाता है?
Where is Sugar cane Found or Grown?

ईख की खेती गर्म प्रदेशों में की जाती है।

गन्ने के फायदे
Amazing Health Benefits of Sugar Cane in Hindi

अक्सर लोग गन्ने का सेवन चूस कर खाने और रस निकाल कर पीने में लिए प्रयोग करते हैं। किंतु इसके अलावा इसका प्रयोग चीनी, शक्कर आदि बनाने में भी किया जाता है। इन सबके अलावा गन्ने का प्रयोग मानव की शारीरिक और मानसिक रोगों को ठीक करने के लिए औषधि के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। इसके सेवन के तरीके इस प्रकार हैं –

गला बैठने या गले में ठंड लग जाने पर गन्ने का प्रयोग
Benefits of Sugarcane in Throat Disorder or Cold in Hindi

कभी कभी देखा जाता है कि अधिक तेज बोलने, चिल्लाने, गाना गाने अथवा सर्दी के कारण ठंड लग जाने या मौसम बदलने पर गला बैठ जाता है। ऐसे में गन्ने को गर्म रेत या गर्म राख में गर्म कर लें और इसे चूसने से गला ठीक हो जाता है।

किडनी या गुर्दे के दर्द में गन्ने के फायदे
Health Benefits of Sugarcane in Kidney Pain in Hindi

किडनी विकार जैसे- किडनी में दर्द आदि। इसके उपचार के लिए 10 ग्राम देशी गुड़ और 500 मि.ग्रा. बुझा हुआ चूना दोनों को मिलाकर दो गोलियां बना लें। पहले 1 गोली गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। अगर दर्द में आराम नहीं मिले तो दूसरी गोली का सेवन करें।

ह्रदय को स्वस्थ बनाने के लिए गन्ना का सेवन
Health Benefits of Sugarcane for Heart in Hindi

ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए गुड़ की पपड़ी या गुड़ से बने खाद्य पदार्थों का सेवन करना लाभदायक होता है। देशी गुड़ का खाली पेट सेवन भी हृदय रोग में लाभ देता है।

कंठ के रोग में गन्ने से फायदा
Benefits of Sugar Cane in Treating Throat Disease in Hindi

गन्ना के रस को धूप या आग में गर्म कर इसमें एक ऊफान आने दें और इस रस को एक कांच की शीशी या चीनी मिट्टी के बरतन में भरकर रख लें। इसे एक सप्ताह बाद प्रयोग में लाएं। इसका गरारा करने से गले से संबंधित परेशानी से आराम (Benefits of Sugarcane Juice) मिलता है।

और पढ़ें – आम खाने के फायदे

आंखों की ज्योति बढ़ाने में कारगर गन्ना
Health Benefits of Sugarcane in Eye Disorder in Hindi

आजकल डिजिटल के जमाने में अधिकांश लोग मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर, लैपटॉप, टैब आदि डिवाइस पर कार्य करते हैं। इस कारण आंखों में खराबी या कम दिखना जैसी समस्या हो जाती है। आंखों की ज्योति कम होने लग जाती है। आंखों की बीमारी में गन्ना का सेवन करना फायदेमंद होता है। नेत्र रोगी को मिश्री के टुकड़े को पानी में घिसकर आंखों में लगाने से रोशनी ठीक होती है।

खांसी-जुकाम और सर्दी में गन्ने के सेवन के फायदे
Health Benefits of Sugar Cane for Cold and Cough Treatment in Hindi

8 ग्राम गुड़, 30 ग्राम दही, तथा 2.5 ग्राम मरिच चूर्ण को मिला लें। इसका सुबह-सुबह तीन दिनों तक नियमित सेवन करें। इससे सर्दी-जुकाम या सूखी खांसी में लाभ मिलता है।

कफ वाली खांसी से परेशान व्यक्ति को पुराने गुड़ में अदरक मिलाकर सेवन करने से कफ वाली खांसी ठीक होती है।

भूख बढ़ाने और पाचन को दुरुस्त करने के लिए गन्ने का प्रयोग
Health Benefits of Sugarcane Juice in Appetite Problem in Hindi

गन्ना के रस को धूप में या आग पर गर्म कर लें। एक ऊफान आने के बाद शीशी, या चीनी मिट्टी के बरतन में भरकर रख लें। एक सप्ताह बाद प्रयोग में लाएं। इससे भोजन ठीक से पचता है, और भोजन के प्रति रुचि भी बढ़ती है। इसमें काला नमक मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं।

और पढ़ें – नारियल के स्वास्थ्य लाभ 

पाचनतंत्र की मजबूती के लिए गन्ने का प्रयोग
Benefits of Sugarcane Juice for Indigestion in Hindi

गुड़ में जीरा मिलाकर सेवन करने से पाचनतंत्र संबंधित समस्या ठीक होती है।

कब्ज में गन्ने के फायदे
Sugarcane Health Benefits in Constipation in Hindi

गरिष्ठ या तेलीय भोजन के कारण अनेक लोग कब्ज से परेशान रहते हैं। ऐसे खानपान से पाचन ठीक से नहीं हो पाता है, जिस कारण कब्ज जैसी समस्या हो जाती है। कब्ज के कारण कई बीमारियां होने की संभावना रहती है। कब्ज की समस्या से ग्रस्त व्यक्ति को गन्ने के रस में जौ की बाल को पीसकर सेवन करना चाहिए।

और पढ़ें – अनानास खाने के फायदे

आफरा आने पर ईख का प्रयोग
Uses of Sugarcane Juice to Treat Gastric Problem in Hindi

पेट के फूलने की समस्या के कई कारण हो सकते हैं। इसके लिए गन्ने के रस को पकाकर ठंडा कर पीने से पेट के फूलने अथवा आफरा होने की समस्या में लाभ होता है।

हिचकी की परेशानी में गन्ने का इस्तेमाल
Health Benefits of Sugarcane Juice to Treat Hiccups in Hindi

हिचकी की समस्या को ठीक करने के लिए थोड़े से गुड़ और सोंठ को पानी में घिस लें। इसे नाक के माध्यम से सेवन करने से हिचकी और सिर दर्द में शीघ्र आराम मिलता है। 10-15 मिली ईख के रस का सेवन करें। इससे हिचकी में लाभ होता है।

वीर्यवर्धक औषधि के रूप में गन्ने का प्रयोग
Amazing Health Benefit of Sugar Cane in Semen Problem in Hindi

आम तौर पर युवाओं में अत्यधिक मात्रा में हस्तमैथुन करने के कारण शरीर में वीर्य की मात्रा में कमी आ जाती है। इसकी अल्पता को पूर्ण करने के लिए गन्ने का प्रयोग किया जाता है। वीर्य दोष वाले व्यक्ति को 2 से 5 ग्राम की मात्रा में आंवला चूर्ण के साथ गुड़ का सेवन करना चाहिए। इससे वीर्य में वृद्धि होती है। इसके साथ ही थकान, रक्तपित्त, जलन, और पेशाब से संबंधित परेशानी से आराम मिलता है।

गन्ना के सेवन से पेट दर्द से आराम
Health Benefits of Sugar Cane for Stomach Ache in Hindi

5 लीटर गन्ने के रस को मिट्टी के बरतन में भर लें और बरतन का मुंह कपड़े से बंद कर रख दें। एक सप्ताह बाद छानकर रख लें। एक महीने बाद 15-20 मिली रस में 2 ग्राम सेंधा नमक मिला लें। इसे थोड़ा गर्म कर पिलाने से पेट दर्द में आराम मिलता है।

पेट की बीमारी में 2-4 ग्राम अजवायन चूर्ण को गुड़ के साथ मिलाकर सेवन करने से लाभ मिलता है।

और पढ़ें- अनार खाने के फायदे

पित्त रोग को ठीक करने में उपयोगी गन्ना
Sugarcane Health Benefits to Treat Pitta Disorder in Hindi

पित्त रोग के निवारण के लिए भोजन से पूर्व गन्ने का सेवन करना उत्तम रहता है।

ईख के 25-30 मिली रस में शहद मिलाकर सेवन करने से पित्त से संबंधित बीमारी में लाभ मिलता है।

वात रोग में गन्ना का उपयोग
Health Benefits of Sugar cane in Vaat Disorder Treatment in Hindi

गाय के ताजा दूध के साथ गुड का सेवन करने से वात रोग ठीक होते हैं।

सिर दर्द में गन्ना के फायदे
Health Benefit of Sugar Cane in Headache in Hindi

दूध में 10 ग्राम गुड़ और 5 ग्राम तिल को पीस लें। इसमें 5 ग्राम घी मिलाकर गुनगुना कर लें। इसका सेवन करने से सिर दर्द में लाभ मिलता है।

घेंघा रोग में गन्ने का उपयोग
Health Benefits of Sugarcane Juice to Treat Goiter Disease in Hindi

घेंघा रोग गले में होने वाली एक बीमारी है। इसमें 2-3 ग्राम हरड़ के चूर्ण का गन्ने के रस के साथ सेवन करने से लाभ होता है।

स्तनों में दूध बढ़ाने के लिए गन्ने का प्रयोग
Uses of Sugarcane for Increasing Breast Milk in Hindi

नवजात शिशु को स्तनपान कराने वाली मां के स्तनों में दूध की कमी महसूस हो रही हो तो उस स्त्री को गन्ने की 5-10 ग्राम जड़ को पीस लें। इससे गन्ने का काढ़ा बनाकर सेवन करें। इससे स्तनों में दूध की वृद्धि होती है।

और पढ़ें – केले के फायदे

मधुमेह रोग में गन्ने के सेवन के फायदे
Health Benefits of Sugarcane in Diabetes in Hindi

जौ को जलाकर उसकी राख में गुड़ मिला लें। इसे गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से डायबिटीज में आराम मिलता है।

मूत्र रोग में गन्ने के फायदे
Health Benefits of Sugar cane Juice in Urinary Disease in Hindi

नियमित रूप से गन्ने के ताजे रस का सेवन करने से मूत्र सम्बन्धी विकारों जैसे- बार-बार पेशाब आना, रुक रुक कर पेशाब आना, पेशाब में जलन आदि में लाभ मिलता है। गन्ने के ताजा रस के अलावा इसकी जड़ से काढ़ा बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।
गन्ने के 30-40 मिली रस में आंवले का रस और शहद मिलाकर सेवन करने से मूत्र संबंधी परेशानी ठीक होती है।

पीलिया रोग या कमला रोग में गन्ने के फायदे
Sugar Cane Benefits in Jaundice Disease in Hindi

गन्ने के टुकड़े कर रात के समय घर के ऊपर छत पर ओस में रख दें। इसके रस को सुबह साफ करने के बाद चूसें। 4 से 5 दिन इसके प्रयोग से पीलिया में बहुत लाभ होता है।
गन्ने के शुद्ध ताजे रस के साथ जौ के सतू् का सेवन करने से भी पीलिया (पांडु या कमला) रोग में लाभ मिलता है।

पेचिश रोग में गन्ने के फायदे
Health Benefits of Sugarcane in Dysentery in Hindi

पेचिश रोग में मरीज के मल के साथ रक्त या खून भी आता है। ऐसे रोगी को 40 मिली गन्ने के रस में समान मात्रा में अनार का रस मिला कर सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से जल्द ही पेचिस रोग में आराम मिलता है।

श्वसन रोग में गन्ना के फायदे
Health Benefit of Sugar Cane in Respiratory Disease in Hindi

5 ग्राम गुड़ में 5 ग्राम सरसों का तेल मिलाकर सेवन करने से सांस फूलने की समस्या से राहत मिलती है।

खूनी बवासीर में गन्ना के फायदे
Sugar Cane Benefits in Piles in Hindi

खूनी बवासीर को ठीक करने के लिए गन्ना का उपयोग लाभ देता है। इसके लिए गन्ने के रस से कपड़े की पट्टी को गीला कर मस्सों पर लगाएं। इससे खूनी बवासीर में लाभ होता है।

और पढ़ें – चुकंदर के फायदे

मुंह के छालों के लिए गन्ने का प्रयोग
Health Benefits of Sugarcane in Ulcer in Hindi

5 ग्राम गुड़ के साथ 5 ग्राम अदरक या सोंठ या हरड़ या पीपल में से किसी का चूर्ण मिला लें। इसे 10 ग्राम की मात्रा में सुबह और शाम गर्म दूध के साथ सेवन करें। इससे मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। इसके अलावा यह गले के दर्द और बुखार जुकाम में लाभ देता है।

गन्ने से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

Health Benefits of Sugarcane in Hindi
Sugarcane Related Some Important Facts in Hindi

कार्बोहाइड्रेट व आयरन प्रचुर मात्रा होने के कारण गन्ने का रस शक्ति व स्फूर्ति प्रदान करने वाला होता है। इसमें कई प्रकार के खनिज तत्व व ऑर्गेनिक एसिड होते हैं।

गन्ने के ताजे रस का सेवन पेट, दिल, दिमाग, गुर्दे व आंखों के लिए विशेष लाभकरी होता है।

कब्ज या एसीडिटी के कारण सीने में होने वाली जलन में गन्ने का रस फायदेमंद होता है। इसमें नींबू, पुदीना और काला नमक मिलाकर सेवन करने से एसिडिटी में लाभ मिलता है।

गन्ने के रस में नींबू के रस मिलाकर सेवन करने से पीलिया जल्दी ठीक हो जाता है।

शारीरिक दुर्बल लोगों के लिए गन्ने का रस काफी फायदा करता है। यह शरीर को पुष्टता प्रदान कर वजन बढ़ाने में मदद करता है और इसमें प्राकृतिक मिठास होती है।

गन्ने को दांतों से चूसकर खाने से कमजोर दांत मजबूत होते हैं। यह दांतों को मजबूत करने का एक बेहतरीन माध्यम है।

 

 

 

 

 

By Admin

Leave a Reply

error: Content is protected !!