Planet.jpg

राहु केतु (Rahu Ketu) का नक्षत्र चरण परिवर्तन
आम जनता को मिलेगी राहत, रोग का होगा नाश

ज्योतिषाचार्य पंडित नीलेश शास्त्री ने बताया कि संवत 2078 का यह पहला (Rahu ketu Change) सबसे बड़ा परिवर्तन है।

राहु और केतु (Rahu ketu) गत वर्ष 2020 में राशि परिवर्तन करके राहु वृषभ राशि में तथा केतु वृश्चिक राशि में गोचर किए थे और संवत 2077 में नक्षत्र का परिवर्तन किया था।

राहु रोहिणी नक्षत्र के तीसरे चरण में ओर केतु जेष्ठ नक्षत्र के प्रथम चरण से अब पुनः 1 जून मध्यरात्रि बाद 12:22 पर राहु ग्रह रोहिणी नक्षत्र के दूसरे चरण में प्रवेश करेंगे और केतु अपना नक्षत्र परिवर्तन करेंगे।

और पढ़ें – अबूझ मुर्हूत, होगी धन वर्षा

केतु जेष्ठ नक्षत्र से अनुराधा नक्षत्र के चतुर्थ चरण में प्रवेश करेंगे।

राहु ग्रह चंद्र के नक्षत्र और केतु ग्रह शनि के नक्षत्र में होने के कारण कई लोगों के जीवन में उतार चढ़ाव देखने को मिलेगा।

केतु का यह नक्षत्र परिवर्तन कई लोगो का जीवन परिवर्तन करने जा रहा है, परिवर्तन के बाद रोग में कमी आयेगी और कई राशियों के जातकों को यात्रा का आनंद मिलेगा।

और पढ़ें – अपरा एकादशी व्रत

केतु ग्रह मंगल घर में गोचर कर रहे हैं।

3 अगस्त को पुनः राहु और केतु अपना नक्षत्र चरण परिवर्तन करेंगे।

12 अप्रैल 2022 को राहु केतु ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे।

राहु मेष राशि में और केतु तुला राशि में गोचर करेंगे।

Nilesh Shastri – 9265 66 7532

Astrologer and Kundli Analytics

By Admin

Leave a Reply