mosambi.jpg

Citrus Limetta Benefits | मौसमी खाने के फायदे

Table of Contents

मौसमी का परिचय
Introduction of Citrus Limetta Benefits in Hindi

मौसमी (Citrus Limetta Benefits) का फल सेहत के लिए गुणों का अपार भंडार है। मौसमी (Sweet Lemon Benefits in Hindi) के फल का नाम आते ही मुंह में पानी आ जाता है। अधिकांशतः हम देखते हैं कि मौसमी के फल का रस बाजार में दुकानों पर मिलता है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है। मौसंबी का फल शरीर में होने वाली पानी की कमी को पूरा करता है। यह देखने में नींबू जैसा प्रतीत होता है। मौसंबी और नींबू में आकार व स्वाद का मुख्य अंतर होता है। इसलिए इसे मीठा नींबू कहा जाता है। इसके गुणों में यह नींबू से भी अधिक प्रभावशाली माना जाता है। मौसमी के रस का सेवन करने से अधिक मौसंबी (Mausami ke fayde) को चबाकर खाना फायदेमंद होता है।

मौसमी के अन्य नाम
Citrus Limetta Name in Hindi

मौसंबी को अनेकों नामों से जैसे – मीठा नींबू, मौसमी, मौसंबी, Mausami आदि नामों से जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम साइट्रस लिमेटा है।
citruslimeta.jpg
Mosambi (Sweet Citrus Limeta)

मौसमी क्या है?
What is Citrus Limetta?

यह नींबू की प्रजाति का फल है। यह स्वाद में खट्टा मीठा होता है। इस फल को कई हफ्तों तक जैसा का तैसा रख रख सकते है। इसमें पानी की मात्रा होती है जो शरीर ताकत देती है। मौसमी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और रोगों से लड़ने में मदद करता है।

मौसंबी खाने के क्या फायदे होते हैं?
What are the benefits of Mosambi?

इस फल में शरीर के वजन को कम करता है तथा यह शरीर में पनपे विषाक्त पदार्थ या टॉक्सीस को बाहर निकालता है। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है। मौसमी में एंटी ऑक्सीडेंट व एंटी बैक्टिरियल गुण होते है। इसके अंदर बहुत सारे मिनरल्स, विटामिन सी, फाइबर, पोटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, कैलोरी, कैल्शियम, सोडियम आदि होते हैं।
मौसमी का फल अनेकों रोगों से हमारी रक्षा करता है। यह आंखों के लिए, कब्ज, एसिडिटी, मसूड़ों, बुखार, जुकाम, शरीर को ताकत देने में, पाचन शक्ति बढ़ाने में, पेचिस, दस्त, कील मुहांसे, रक्त शुद्धिकरण आदि अनेकों रोगों में लाभ पहुंचाता है।

और पढ़ें –अनानास के फायदे

मौसमी में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज तत्त्व
Major elements in (Sweet Lemon) Citrus Limeta for Health in Hindi

इस में पाए जाने वाले पोषक तत्वों में जल की मात्रा 90.80 ग्राम, कैलोरी 42 से 44 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट 8.41 ग्राम, सुगर 1.68 व प्रोटीन की मात्रा 0.42 ग्राम होती है। यह मात्रा प्रति 100 ग्राम मूल्य पर होती है। इसके अलावा पाए जाने वाले खनिजों में कैल्सियम 14 मिली ग्राम, पोटेशियम 117 मि.ग्रा., फास्फोरस 15 मि.ग्रा. व मैग्नीशियम 8.5 मि.ग्रा. होता है। विटामिन्स में विटामिन सी 30 मि.ग्राम व कुछ मात्रा में विटामिन ई व B3 भी होते है।

मौसमी का पेड़ और फल कैसा होता है ?
What is a Citrus Limetta Fruit and tree like?

यह एक भारतीय मूल का पौधा माना जाता है। आयुर्वेद में इस फल के अनेकों लाभ है। जिसका औषधि के रूप में जीवन में प्रयोग किया जा सकता है। मौसंबी के वृक्ष की संरचना की बात करें तो यह लगभग 5.5 मीटर लंबा व झाड़ीदार घना वृक्ष होता है। यह देखने में नींबू के वृक्ष के समान ही प्रतीत होता है। इसमें आने वाले पत्ते हरे रंग के होते है। पेड़ में यह फल मुख्य रूप से ज्येष्ठ से  श्रावण मास में लगता है। प्रारंभ में यह फल हरे रंग का गोलाकार होता है, किन्तु पकने के बाद यह पीले रंग का होता है। स्वाद के दृष्टिकोण से मौसंबी का फल खट्टा मीठा होता है। इसका प्रयोग ज्यूस निकालने में करते हैं। मौसमी का फल देखने में नींबू जैसा प्रतीत होता है, इसमें सफेद रंग  के चिकने व लंबे नुकीले बीज निकलते है। जो स्वाद में कड़वे होते है।

मौसंबी खाने के फायदे
Citrus Limetta Benefits in hindi

1. कील – मुंहासे मिटाए मौसम्बी –
Citrus Limetta Benefits for Removing Acne and black spots in hindi

मौसंबी खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती है, साथ ही इसके छिलके के गुण भी बहुत ही फायदेमंद हैं। कील मुहांसे युवावस्था की एक विशेष समस्या है। अधिक तैलीय भोजन के सेवन व शरीर में गर्मी होने के कारण कील मुंहासे निकाल आते है। इनसे छुटकारा पाने के लिए मौसंबी के छिलके को छाया में सुखाकर पीस लें और इसका महीन चूर्ण बना लें। इस चूर्ण में हरड़ का चूर्ण व मुल्तानी मिट्टी मिला लें। इस मिश्रण में नींबू की कुछ बूंदे डाल लें। थोड़ा पानी डाल कर इस पेस्ट का लेप करने से कील मुंहासे समाप्त हो जाते है और चेहरे की खोयी हुई रंगत वापस आ जाती है।और पढ़ें – बहेड़ा खाने के फायदे 

2. पेशाब संबंधी रोगों में मौसंबी के फायदे –
Citrus Limetta Benefits in urinary diseases in hindi

पेशाब संबंधी सभी प्रकार के विकारों के निवारण के लिए मौसंबी का ज्यूस या रस बहुत ही लाभकारी है। मौसमी का एक गिलास रस का सेवन प्रतिदिन करने से मूत्र विकार जैसे पेशाब में जलन, दर्द या रुक रुक कर आने की समस्या आदि ठीक हो जाती है।

और पढ़ें –  नीम के फायदे 

3. दस्त या जुलाव में मौसंबी के रस के लाभ –
Citrus Limetta Benefits Juice in Diarrhea in hindi

मौसंबी के रस के साथ मिश्री या चीनी व सौंफ चूर्ण मिलाकर सेवन करने से दस्त ठीक हो जाते हैं।
और पढ़ें –  बेल के फायदे

4. शरीर में पानी की कमी पूरी करे मौसमी –
Seasonal Fruits to complete the lack of water in the body in hindi

शरीर में होने वाली पानी की कमी के लिए मौसमी बहुत ही फायदेमंद साबित होती है।
वैसे तो मौसमी के रस का सेवन करना पानी की कमी को पूरा करता है। किन्तु इसके अलावा मौसम्बी के छिलका का चूर्ण प्रतिदिन सेवन करने से पानी की कमी जैसी समस्या दूर होती है।

5. उल्टी, दस्त या हैजा में लाभकारी है मौसंबी –
(Mausambi is beneficial in vomiting, diarrhea or cholera in hindi)

मीठे नींबू के नाम से प्रसिद्ध यह फल हैजा रोग में लाभकारी होता है।
मौसंबी के एक गिलास रस का सेवन करने से हैजा ठीक हो जाता है। यह बीमारी गर्मियों में होती है।

6. दमा या श्वास रोग में मौसमी के फायदे –
Citrus Limetta Benefits in asthma or breathing disease in hindi

मौसमी फल दमा रोग में लाभकारी है। मारीच का चूर्ण व सेंधा नमक का सेवन मौसमी के रस के साथ करने से दमा या श्वास संबंधी रोग ठीक हो जाता है।

और पढ़ें –  तुलसी के फायदे

7. दांतों के दर्द में मौसमी के फायदे – 
Citrus Limetta Benefits in toothache in hindi

मौसमी के ताजा छिलकों को पीसकर कर दांतों पर दर्द वाले स्थान पर लगाने से आराम मिलता है। मौसमी के सूखे चूर्ण का मंजन के रूप में प्रयोग करने से दांत मजबूत होते है।
और पढ़ें –  हल्दी के फायदे

8. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मौसमी के ज्यूस के फायदे –
Health Benefits of Citrus Limetta Juice to Increase Immunity in Hindi

एक गिलास मौसमी के रस का प्रतिदिन सेवन करने से यह शरीर में स्फूर्ति लाता है और रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। मौसमी के रस का नियमित सेवन शरीर को ताकत प्रदान करता है तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

9. मधुमेह रोग में मौसमी का सेवन – 
Citrus Limetta intake in diabetes disease in hindi

मधुमेह रोगी को मीठे का सेवन नहीं करना चाहिए। लेकिन माना जाता है कि मौसमी के रस के साथ आंवला रस व शहद का सेवन करने से मधुमेह रोग में लाभ मिलता है। किन्तु मधुमेह रोगी को इसका सेवन चिकित्सक की सलाह से करना चाहिए।
और पढ़ें – केले के फायदे

10. मोटापा बढ़ने से रोके और वजन नियंत्रित करे मौसमी –
Mosambi to prevent obesity and control weight in hindi

मौसमी के फल में काम कैलोरी होती है तथा इसमें फैट की मात्रा नगण्य होती है। इसलिए मौसमी के रस का सेवन मोटापा बढ़ने से रोकता है और शरीर के वजन को नियंत्रित करता है।

और पढ़ें – मीठे नीम के फायदे 

Leave a Reply