Ginger.jpg

Ginger Benefits in Hindi | अदरक और सौंठ के फायदे व नुकसान

Table of Contents

अदरक का परिचय
Introduction to Ginger

सौंठ या अदरक (Ginger Benefits in Hindi) एक आयुर्वेदिक रसायन है। आयुर्वेद में अदरक सबसे अधिक प्रभावशाली औषधियों में से एक है। वैसे तो अदरक को मुख्य रूप से घरों में चाय बनाने व मसाले के रूप में प्रयोग करते है। लेकिन इसके अलावा अदरक का प्रयोग आयुर्वेद में औषधि के रूप में किया जाता है। अदरक औषधीय गुणों का भंडार है।

Ginger.jpg
Ginger (Adarak)

दुनिया भर में सबसे अधिक उगाया जाने वाले मसालों में से एक अदरक भी है। अदरक पर अध्ययन व शोधों से पता चला है कि अदरक अनेकों रोगों में उपयोगी है। अदरक का प्रयोग ताजा एवं सुखाकर चूर्ण के रूप में किया जाता है। अदरक का दोनों प्रकार से औषधि व मसालों के रूप में प्रयोग किया जाता है।

अदरक क्या है?
What is ginger?

भूमि के अंदर जड़ के रूप उगने वाले प्रकंद को अदरक कहते है।

इसका पौधा लगभग 100 से 125 से.मी. ऊंचा, कोमल पत्तों वाला, जड़ वाला पौधा होता है। इसके प्रकंद से प्रतिवर्ष नई शाखाओं का उद्गम होता है। इसका प्रकंद गांठदार पीला या सफेद रंग का होता है। इसका बाहरी आवरण छिलका युक्त भूरे रंग का धारीदार होता है। यह स्वाद में कसैला, तीखा व सुगंधित होता है।

अदरक कैसी होती है ?
What is Ginger ?

यह देखने में हल्दी के जैसी प्रतीत होती है। जिस प्रकार से हल्दी में औषधीय गुण होते है उसी प्रकार अदरक में भी अनेकों औषधीय गुण होते हैं। घरों में अदरक का प्रयोग खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। आम तौर पर अदरक की जड़ का प्रयोग किया जाता है जो एक प्रकार से कंद मूल व संशोधित तने के रूप में होता है।

अदरक की तासीर कैसी होती है?
How does ginger taste?

इसकी तासीर गर्म प्रकृति की होती है।

अदरक के अन्य भाषाओं में नाम
Ginger Name in Other Langauge

अदरक को आदि, आदू, जिंजर, आर्दिका, विश्वा, Ginger,अदरख आदि नामों से जाना जाता है। सूखी अदरक व इसके सूखे चूर्ण को सौंठ, शुंठी, शुंठ, saunth के नाम से जाना जाता है।

अदरक कहाँ होती है?
Where is grown ginger?

यह व्यापक रूप एशिया, अफ्रीका व अमरीका में उगाई जाती है। एशिया में भारत देश में सभी क्षेत्रों में अदरक की खेती की जाती है।

भावप्रकाश निघण्टु में लिखा हुआ है कि भोजन से पहले अदरक पर सेंधा नमक लगाकर खाने से अरुचि मिटती है और यह खाने कनपचन भी करता है। यह जीभ व गले को साफ करता है और भूख बढ़ाता है। अदरक और सौंठ उष्ण होने के कारण वात कफ नाशक होता है। यह एक उत्तेजक औषधि है। अदरक खांसी, बुखार, जुकाम, हृदय रोग, खून साफ करने, वात, कफ, पित्त, पेट संबंधी रोगों, पाचन तंत्र मजबूत करने में, अरुचि, पीलिया, कुष्ठ रोग, मूत्र रोग आदि में लाभकारी है।

अदरक के सेवन की विधि –
Best Health Benefits of Ginger in hindi

सिर दर्द में अदरक के फायदे –
Health Benefits of ginger in headache in hindi

एक गिलास दूध में 5 ग्राम सौंठ चूर्ण मिलाकर सेवन करने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

कान दर्द में अदरक के फायदे –
Health Benefits of Ginger in Earache in hindi

सौंठ के गुनगुने रस को कान में डालने से कान दर्द में राहत मिलती है।

और पढ़ें – केले के फायदे

श्वास रोग में अदरक के फायदे –
Health Benefits of ginger in respiratory disease in hindi

अदरक के रस में शहद मिलाकर खाने से श्वास रोग में आराम मिलता है।

और पढ़ें – गिलोय के फायदे 

भूख बढ़ाने में लाभकारी अदरक –
Ginger beneficial in increasing appetite in hindi

एक ग्राम यवक्षार (जौ के पौधे को जलाकर निकाला गया क्षार) में सौंठ का चूर्ण मिलाकर में दोगुना घी मिलाकर या गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से भूख बढ़ती है।

हरड़ व सौंठ के चूर्ण को बराबर मात्रा में मिलाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से पाचन शक्ति मजबूत होती है व भूख बढ़ती है।

आमाजीर्ण रोग में अदरक के फायदे –
Health Benefits of ginger in chronic disease in hindi

  • पेट में होने वाली ऐंठन व मल के साथ निकालने वाले सफेद मल को आमाजीर्ण कहते है। इस रोग से पीड़ित रोगी को सौंठ चूर्ण व हरितकी के चूर्ण को गुड़ के साथ मिलाकर सेवन कराने से आराम मिलता है।
  • सौंठ का क्वाथ बनाकर शहद के साथ सेवन करने से आमाजीर्ण रोग में आराम मिलता है।
  • धनिया व सौंठ चूर्ण का पानी में क्वाथ बनाकर पीने से जठराग्नि प्रदिप्त होती है और आमाजीर्ण रोग में लाभ होता है।

अम्लपित्त रोग में अदरक के फायदे –
Benefits of ginger in acidosis in hindi

परवल और सौंठ का क्वाथ बनाकर 50 ग्राम मात्रा में पिलाने से अम्लपित्त व बुखार में आराम मिलता है।

अजीर्ण रोग में अदरक के फायदे –
Benefits of Ginger in Indigestion in hindi

रात का खाया हुआ खाना अगर नहीं पचता है तो हरड़ और सौंठ का चूर्ण ठंडे जल के साथ सेवन करना चाहिए।

पेट संबंधी रोगों में अदरक के फायदे –
Benefits of ginger in stomach related diseases in hindi

सौंठ, हरड़, बहेड़ा और आंवला को समान मात्रा में लेकर पीस लें। गौ घृत व दही का पानी समान मात्रा में लेकर विधि पूर्वक घी पाक बनकर छान लें। इस पाक का सेवन सुबह शाम करने से पेट सम्बन्धी रोगों में आराम मिलता है।

और पढ़ें – नीम के फायदे

पीलिया रोग में अदरक के फायदे –
Benefits of ginger in jaundice disease in hindi

  • इंद्रायण तथा सौंठ चूर्ण का देशी गुड़ के साथ सेवन करने से पीलिया रोग में आराम मिलता है।
  • अदरक के रस, त्रिफला चूर्ण एवं गुड़ को समान मात्रा में मिलाकर सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

माइग्रेन रोग में अदरक के फायदे –
Benefits of ginger in migraine disease in hindi

माइग्रेन रोग में अदरक की चाय का सेवन करना चाहिए। अदरक की चाय बनाने के लिए अदरक का रस, तुलसी, चीनी या गुड़ को उबालकर काढ़ा बना ले इसमें थोड़ा नींबू का रस मिलाकर सेवन करना चाहिए।

इससे माइग्रेन रोग में आराम मिलता है।

ठंड – जुकाम में अदरक के फायदे –
Ginger Health Benefits in cold in hindi

अदरक का रस, शहद व नींबू के रस को गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से ठंड जुकाम जैसे रोगों में आराम मिलता है।

खांसी में अदरक के लाभ –
Health Benefits of ginger in cough in hindi

  • अदरक के टुकड़ो को चूसने से गले की खराश मिटती है और यह कफ को समाप्त करता है यह खांसी में आराम दिलाती है।
  • अदरक के रस का शहद के साथ सेवन करने से खांसी में आराम मिलता है।

खून साफ करने में अदरक के फायदे –
Benefits of ginger in blood purification in hindi

खून साफ करने के लिए अदरक के रस में शहद का खाली पेट सेवन करने से लाभ होता है।

और पढ़ें – हल्दी के फायदे 

कब्ज में अदरक के फायदे –
Benefits of ginger in constipation in hindi

अदरक के छोटे-छोटे टुकड़ों को नमक में अजवाइन के साथ मिलाकर तवे पर गर्म कर लें और इसका सेवन नींबू के रस में मिलाकर करना चाहिए।

इससे कब्ज से राहत मिलती है।

पीरियड दर्द में अदरक के लाभ –
Benefits of ginger in period pain in hindi

पीरियड के दौरान कुछ महिलाओं को दर्द होता है। पीरियड के दर्द से राहत पाने के लिए ब्राउन शुगर व अदरक की चाय का सेवन करना चाहिए।

इसे पीरियड दर्द में आराम मिलता है।

और पढ़ें – अश्वगंधा के फायदे 

अदरक के सेवन के नुकसान
Side Effects of Ginger for Health in Hindi

  • 3 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • सामान्य व्यक्ति को एक दिन में भोजन सहित 4 से 5 ग्राम अदरक से अधिक का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • गर्भवती स्त्रियों को अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए और यदि अदरक का सेवन करना हो तो प्रतिदिन अधिकतम एक ग्राम अदरक का चाय में सेवन कर सकते हैं।

One comment

Leave a Reply