Basil.jpg

Holy Basil benefits | तुलसी देवी और दवा | Tulsi ke Fayde

Table of Contents

तुलसी देवी और दवा – एक परिचय

Introduction of Holy Basil In Hindi

तुलसी देवी और दवा दोनों होती है। तुलसी (Holy Basil Benefits In Hindi) का पौधा एक औषधीय पौधा है।  यह अधिकांश घरों के आंगन में देखने को मिलता है। यह पौधा आध्यात्मिक दृष्टिकोण से भी बहुत महत्वपूर्ण है। तुलसी (Benefits of Ocimum tenuiflorum in Hindi) के पौधे को देवी के रूप में पूजा जाता है। प्रातः काल स्नान करने के पश्चात इस पौधे पर जल चढ़ाया जाता है। तुलसी देवी के रूप में भी है और दवा के रूप में भी है। तुलसी को अन्य नाम वृंदा के नाम से भी जाना जाता है। यह एक अद्भुत चमत्कारी आयुर्वेदिक औषधि है।
तुलसी के पौधे में औषधीय गुण होने के कारण  खनिज एवं विटामिन से भरपूर होता है। तुलसी मुुख्यतः दो प्रकार की पायी जाती है –

1. सफेद तुलसी – White basil or Green basil in hindi

सफेद तुलसी (Safed tulsi ke fayde hindi) को राम तुलसी (Rama tulsi ke fayde in hindi) भी कहा जाता है। यह पौधा मुख्यतया सभी हिन्दू परिवारों के आंगन में मिल जाता है। इस तुलसी में पत्ते हरे रंग के होते है। यह आकार में 25 से.मी. से 60 से.मी. ऊंचा होता है। इसके फूल हरे एवं बीज काले होते है। तुलसी में फूल बरसात के मौसम में आते है अर्थात इसमें फूल से लेकर बीज बनने तक की प्रक्रिया जुलाई से अक्टूबर माह तक रहती है।

2. काली तुलसी – Black Basil in Hindi

काली तुलसी को श्याम तुलसी या श्यामा तुलसी (Shyama tulsi ke fayde in hindi) के नाम से जाना जाता है। यह एक अद्भुत एवं अल्प संख्या में पाया जाने वाला पौधा है। यह तुलसी सफेद तुलसी से अधिक तीक्ष्ण होती है। काली तुलसी युवा एवं बुजुर्ग व्यक्तियों के लिए अधिक लाभकारी रहती है। इस तुलसी के पत्ते एवं तना बैंगनी रंग के होते है। आकार के दृष्टिकोण से यह पौधा भी राम या सफेद तुलसी के समान ही होता है। काली तुलसी (Kali Tulsi ke fayde in hindi) में फूल बैंगनी रंग के और बीज काले रंग के होते है। फूल एवं बीज जुलाई माह से अक्टूबर माह तक आते है। अन्य शब्दों में यह भी कह सकते है कि बीज बनने की प्रकिया आषाढ से कार्तिक माह तक रहती है। काली तुलसी से माँ काली एवं श्री हनुमान जी पूजा की जाती है।

तुलसी के फायदे या गुण

Holy Basil Benefits or qualities in Hindi

तुलसी के पौधे में औषधिय गुण होने के कारण यह बुखार, खांसी, जुकाम, हीमोग्लोबिन बढ़ाने में व रक्त शुद्धिकरण में, चर्म रोग, सफेद दाग, मुख की दुर्गन्ध, कील मुहांसे, काले धब्बे, वीर्य वृद्धि, अनियमित मासिक धर्म, इम्युनिटी बढ़ाने में, जोड़ो का दर्द, वबासीर, आंखों का दर्द, जलन, मूत्र रोग, गर्मी, दाद, खुजली, मधुमेह,पीलिया, पाचन शक्ति बढ़ाने में, बहुत से रोगों में फायदेमंद है।

बीमारी में उपयोग करने की विधि –

Tulsi ke fayde in hindi

1. यौन रोग में तुलसी के फायदे –

Holy Basil Benefits in sexual diseases in hindi

पुरुषों में होने वाली बीमारी में तुलसी बहुत ही लाभकारी है। यह पुरुषों की शारीरिक कमजोरी, वीर्य की कमी, नपुंसकता में तुलसी के बीज का सेवन करना अन्यंत लाभकारी होता है। रोज एक माह 5 ग्राम तुलसी के बीज गुड़ एवं गाय के दूध के साथ सुबह शाम सेवन करने से यौन रोग में लाभ देता है और यह नपुंसकता को भी समाप्त कर देता है।

और पढ़ें – अश्वगंधा के फायदे 

2. अनियमित माहवारी में तुलसी के फायदे

Benefits of basil in irregular menstruation or periods in hindi

महिलाओं में होने वाली अनियमित माहवारी में भी तुलसी के बीज का सेवन एक माह से डेढ़ माह तक करने से लाभ मिलता है। काली तुलसी के बीज अधिक लाभकारी होते है।

3. पेट दर्द में तुलसी के फायदे

Benefits of basil in stomach pain in hindi

आधा लीटर पानी में एक बूंद तुलसी के बीज का रस या तेल डाल कर पीने से पेट की बीमारी में फायदा करती है। पेट के कीटाणुओं का विनाश करती है तथा यह नुस्खा मौसमी बीमारियों से भी रक्षा करता है।

और पढ़े – बेल या बील के फायदे 

4. हीमोग्लोबिन में तुलसी के फायदे

Benefits of Ocimum tenuiflorum in hemoglobin in hindi

तुलसी के पत्तों के दैनिक उपयोग से हीमोग्लोबिन में वृद्धि होती है, तुलसी के पत्तों के रस से रक्त में वृद्धि होती है।

5. स्मरण शक्ति के लिए फायदेमंद है तुलसी का सेवन – 

Consumption of basil is beneficial for memory in hindi

तुलसी स्मरण शक्ति या याददाश्त को तेज करती है।

6. खांसी, गले में दर्द, व जुकाम में लाभ दिलाये तुलसी –

Basil provide relief in cough, throat pain and cold in hindi

तुलसी खांसी, जुकाम में बहुत ही लाभकारी है। तुलसी के रस को शहद या गर्म पानी के साथ लेने से गले के दर्द में लाभ होता है तथा खांसी व बुखार में लाभ पहुंचाता है। इसके अलावा गुनगुने पानी में नमक एवं तुलसी का रस डालकर कुल्ला करने या गरारे करने से गले का दर्द में लाभ मिलता है।

7. दांत व मसूड़े के दर्द में लाभकारी तुलसी – 

Basil beneficial in tooth and gum pain in hindi 

गुनगुने पानी में तुलसी के तेल की 4-5 बूंद डालकर कुल्ला करने से मसूड़े का दर्द ठीक हो जाता है और लौंग के साथ तुलसी को दांत या दाढ़ के नीचे दबा के रखने से दांत दर्द में आराम मिलता है। तुलसी के पत्तों को खाने से मुंह की दुर्गन्ध भी दूर हो जाती है। तुलसी के पत्ते खाने से मुंह के छालों में लाभ मिलता है।

और पढ़े – हल्दी के फायदे 

8. बुखार या ज्वर में तुलसी के फायदे

Health Benefits of basil in fever in hindi

बुखार आने पर तुलसी के पत्तों को काढ़े में डालकर उसका सेवन करने से बुखार में जल्दी आराम मिलता है। बुखार व मौसमी बीमारी के लिए तुलसी बहुत ही लाभकारी औषधि है।

और पढ़े- बुखार में  गिलोय के फ़ायदे 

9. बाल झड़ना या जुए मारने में तुलसी के फायदे

Benefits of holy basil in hair loss or gambling in hindi

वैसे तो बाल झड़ने के बाद दोबारा उगना बहुत ही मुश्किल है। किन्तु बालों को झड़ने से रोका जा सकता है। तुलसी के रस को तेल में मिलाकर सिर में लगाने से बाल झड़ना रुक जाता है। इसका नियमित सेवन से बाल झड़ना बंद हो जाता है और बाल सफेद  होना भी बन्द हो जाता है।
नीबू के रस में तुलसी के बीज या पत्तों का रस मिलाकर सिर में लगाने से जुए मर जाती है तथा सिर में होने वाला डेंड्रफ व खुजली में लाभ पहुंचाता है।

10. कील, मुंहासे व काले धब्बे मिटाये तुलसी –

Basil Eradicate nail, pimples and black spots in hindi

तुलसी के पत्तों का रस और नींबू का रस मिलाकर मुंह पर लगाए तथा 2 घंटे बाद गुनगुने पानी से धो ले। इससे मुख पर होने वाले कील मुंहासे में लाभ मिलता है और चेहरा चमकता है।

और पढ़ें –ग्वारपाठा ( Aloe Vera ) के फायदे

11. सफेद दाग मिटाये तुलसी –

Remove white stain or spots by basil in hindi

सफेद दाग में तुलसी का रस एवं नारियल तेल के मिश्रण को लगाने से फायदा मिलता है।
इसके अलावा कंसोड़ी के पत्ता, नींबू का रस, तुलसी रस को ताम्र (तांबा) बर्तन में एक दिन के लिए धूप में रख दे तथा अगले दिन इस लेप को सफेद दाग में लगाए, इससे सफेद दाग साफ हो जाते है। यह विधि अत्यंत लाभकारी है।

12. दस्त (जाड़ा) में तुलसी के फायदे

Holy Basil Benefits in diarrhea in hindi

दस्त होने पर तुलसी के पत्ते एवं जीरा पीस कर चाटने से दस्त में आराम मिलता है।

13. चोट व घाव में लाभकारी तुलसी

Basil beneficial in injury and wound in hindi

चोट या घाव वाले स्थान पर तुलसी के पत्ते पीस कर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है।

14. मधुमेह रोग में लाभ दिलाये तुलसी –

Basil benefits in diabetes in hindi

मधुमेह यानि डायबिटीज में तुलसी के पत्ते का प्रतिदिन सेवन करने से मधुमेह नियंत्रण होता है।

15. सिर दर्द मिटाये तुलसी –

Eradicate headache by Basil in hindi

तुलसी के तेल की बूंद नाक में डालने से सिर दर्द में राहत मिलती है।

और पढ़ें – नींबू के फायदे 

16. दिमाग एवं स्मरण शक्ति में लाभकारी तुलसी

Basil beneficial for mind and memory in hindi

दिमाग की कार्य क्षमता एवं याददाश्त बढ़ाने में तुलसी बहुत ही लाभकारी है। तुलसी की 4-5 पत्ती रोज पानी के साथ पीने से स्मरण शक्ति में वृद्धि होती है।

17. नेत्र ज्योति एवं रतौंधी में लाभकारी तुलसी

Beneficial basil in eye light and night blindness in hindi

तुलसी के पत्तों का रस सुबह शाम आंखों में डालने से रतौंधी जैसी बीमारी का अंत हो जाता है और आंखों की रोशनी में वृद्धि होती है।

18. मूत्र में जलन से राहत दिलाये तुलसी का सेवन

Use of basil to relieve burning sensation in urine in hindi

तुलसी के बीज, जीरा व मिश्री सुबह शाम दूध के साथ सेवन करने से मूत्र में जलन में लाभ पहुंचाता है।

19. पीलिया में फायदेमंद है तुलसी का सेवन – 

Basil intake is beneficial in jaundice in hindi

तुलसी के पत्तों को या रस को छाछ के साथ पीने से पीलिया ठीक हो जाता है।

20. सर्प के काटने पर लाभकारी तुलसी

Beneficial basil on snake bite in hindi

सांप के काट लेने पर मरीज को तुलसी का रस पिलाना चाहिए और तुलसी के पौधे की मंजरी (तना) व जड़ को पीस कर सांप के काटने वाली जगह पर लगाने से जहर उतर जाता है। यदि काली तुलसी हो तो अधिक लाभकारी है क्योंकि यह सामान्य तुलसी की तुलना में अधिक तेज होती है।

सावधानी-

तुलसी को दांतों से नहीं चबाना चाहिए और हो सके तो कच्चे दूध या खाली दूध के साथ तुलसी का सेवन नहीं करें।

और पढ़े – कढ़ी पत्ता या मीठे नीम के फायदे 

Leave a Reply